Ajab Gajab

लाखों की इनकम और 3 बीवियां, कुछ ऐसी है इस भिखारी की लाइफस्टाइल

हम जब भी कभी बाहर जाते है और रास्ते में हमें कोई भिखारी नजर आता है तो हमें बड़ा दुःख होता है और हम उसे कुछ रुपए भी दे देते है. सर्दियों के मौसम में अक्सर जब हम भिखारियों को ठण्ड में ठिठुरते हुए देखते है तो हमें उसकी हालत पर दया आ जाती है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे भिखारी के बारे में बताने जा रहे है, जिसकी कहानी सुनकर आपको उस पर दया नहीं आएगी बल्कि उससे जलन होने लगेगी. झारखंड का एक भिखारी इन दिनों मीडिया में छाया हुआ है जिसकी महीने की कमाई जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे. इस भिखारी का नाम है छोटू बरई.

कमाता है लाखों

बता दे कि छोटू की उम्र 40 वर्ष है और आपको जानकर आश्चर्य होगा कि छोटू भीख मानकर सालाना 4 लाख रुपए तक की कमाई कर लेता है, यानी महीने के करीब 30 हजार रुपए. इतना ही नहीं, वह वेस्ट्रिज नाम की चेन मार्केटिंग कंपनी का मेंबर भी है. वह कंपनी के पर्सनल केयर प्रॉडक्ट्स भी बेचता है. छोटू चक्रधरपुर रेलवे स्टेशन पर भीख मांगता है. रोजाना कई ट्रेनों में भीख मांगता है.

तीन बीवियां

सबसे मजेदार बात तो यह है कि छोटू की एक नहीं बल्कि तीन बीवियां है. खास बात यह है कि वो भी कमाती हैं और सारे पैसे इन्हीं को देती हैं. फिर छोटू तीनों को बराबर सैलरी देते हैं. बांदी गांव में एक बर्तन की दुकान खोल रखी है. उसकी एक पत्नी दुकान की जिम्मेदारी संभालती है. छोटू बताते हैं, ‘पहले पैसे कमाने की खूब कोशिश की लेकिन गरीब ही रहा. फिर मैंने भीख मांगनी शुरू की और कुल मिलाकर अब दिन के 1000-1200 कमा लेता हूं. साल भर में 4 लाख तक कमा लेता हूं.’ हालांकि यह सिर्फ एक भिखारी की कहानी है. वरना ज्यादातर भिखारियों को तो 2 वक़्त का खाना भी नसीब नहीं होता है. इसलिए इस कहानी के आधार पर सभी भिखारियों के बारे में एक जैसी धारणा ना बनाए.