इंदौर में टूट पड़ा भाजपा-कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का सैलाब, नमक व्यापारी रमेश पाटिल ने भी भरा नामांकन फार्म

इंदौर। इंदौर लोकसभा सीट के लिए नामांकन फार्म जमा किए जाने के अंतिम दिन सोमवार को 13 उम्मीदवारों ने नामांकन फार्म जमा किए है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी लोकेश जाटव के समक्ष कांग्रेस और भाजपा, अन्य पार्टियों व निर्दलीय कुल 23 उम्मीदवारों द्वारा 33 नामांकन फार्म दाखिल किए गए है। इन नामांकन फार्म की जांच मंगलवार तक होगी।

कल 13 उम्मीदवारों ने जमा किए नामांकन-
अंतिम दिन नामांकन फार्म जमा करने वालों में कांग्रेस उम्मीदवार पंकज संघवी सहित रमेश पाटिल निर्दलीय, भावना सांगेरिया निर्दलीय, महेन्द्र टिकलिया निर्दलीय, कमलेश वैष्णव हिन्दुस्तान निर्माण दल, सैय्यद निजाम अहमद निर्दलीय, प्रकाश नारायण वर्मा निर्दलीय, प्रवीण कुमार अजमेरा निर्दलीय, रणजीत गोहर निर्दलीय, हाजी मुस्ताक अंसारी निर्दलीय, इफ्तेखार अहमद खान माइनरटीज डेमोक्रेटिक पार्टी, धीरज दुबे सपाक्स पार्टी, हेमंत गोयल निर्दलीय ने नाम निर्देशन पत्र भरा। वहीं राजेन्द्र अग्रवाल गौड निर्दलीय, शैलेश शर्मा निर्दलीय, परमानंद तोलानी निर्दलीय, नासिर मोहम्मद निर्दलीय, सुरेन्द्र सिंगले निर्दलीय, दीपचंद अहिरवाल बसपा, इमरान बक्श निर्दलीय, संदीप कड़वे निर्दलीय, भाजपा के शंकर लालावानी, राजकरण यादव निर्दलीय पहले ही नाम निर्देशन पत्र भर चुके हैं। बता दे कि भाजपा के शंकर लालवानी और बसपा उम्मीदवार दीपचंद अहिरवाल ने अंतिम दिन भी लाव लश्कर के साथ नामांकन फार्म जमा करने कलेक्टोरेट पहुंचे थे।

कौन है रमेश पाटिल ?
रमेश पाटिल लगभग 25 वर्षों से इंदौर में सुखलिया क्षेत्र में रहते है। ये नमक के बड़े व्यापारी है। मिली जानकारी के मुताबिक रमेश पाटिल मराठी समाज में एक अपनी अच्छी छवि बनाएं हुए है। जिससे यह कयास लगाई जा रही है कि मराठी समाज के वोट इनके पक्ष में गिर सकते है और जिससे मुख्य दलों के वोट कट सकते है।