Religious

भगवान की पहचान,क्या वास्तव में भगवान हैं?

हम बचपन से ही भगवान और देव-देवियों की प्रार्थना करते आ रहे हैं, उनकी भक्ति करते आ रहे हैं और इसी तरह अलग-अलग तरीके से भगवान एवं धर्म से जुड़े हुए हैं। फिर भी, हम पूछते हैं कि भगवान कौन हैं? क्या हकीकत में भगवान का अस्तित्व हैं? क्या वास्तव मे भगवान हैं? कहाँ हैं भगवान? क्या किसी ने भगवान को देखा हैं या उनका अनुभव किया हैं? भगवान का पता क्या हैं? यह ब्रह्मांड किसने बनाया? क्या भगवान के अस्तित्व का कोई सबूत हैं? क्या ये दुनिया भगवान चलाते हैं? भगवान का न्याय क्या है? हम भगवान के साथ अभेद कैसे हो सकते हैं? क्या मैं भगवान का प्रेम पा सकता हूँ? क्या भगवान से की हुई हमारी प्रार्थनाओं का हमें ज़वाब मिलता हैं? क्या भगवान एक है या अनेक हैं? क्या भगवान के प्रेम को महसूस कर सकते हैं? भगवान और विज्ञान के बिच कोई सबंध हैं? नि:शंक भरे विकसित दिमाग़ में ऐसे कई प्रश्न उठते हैं। आखिरकार भगवान को जानने की आपकी खोज ही आपको यहाँ ले आई हैं!

जब हम इस विशाल ब्रह्मांड को देखते हैं, तब हम एक अद्भुत शक्ति का अ भव करते हैं जो सभी को संतुलित रखती हैं ऐसा प्रतीत होता हैं। दूसरा, जब हम सुंदर प्रकृति को देखते हैं, हम इसकी प्रशंसा करते हैं और उसके साथ आत्मीयता का अनुभव करते हैं। फिर भी हम कुदरती आपदा, बीमारी, गरीबी, अत्यन्त दुःख, अन्याय और हिंसा से व्याकुल होते हैं। एक ओर हम देखते हैं किस तरह मनुष्यों ने विज्ञान और तकनिकी में तरक्की की है और दूसरी तरफ हम देखते हैं कि किस तरह ज़्यादा से ज़्यादा लोग तनाव, डिप्रेसन और चिंता से जूझ रहे हैं। दुनिया के प्रति ऐसा दोतरफा दृष्टिकोण कई सारे प्रश्न खड़े करता है जैसे कि – भगवान कहाँ हैं? क्या प्रार्थना में शक्ति है? भगवान का प्रेम कहाँ खो गया? क्यों इतना अन्याय है? क्यों अच्छे कर्म करनेवाले लोगों को सहन करना पड़ता हैं, जबकि दूसरे लोग जो गलत करते हैं फिर भी आज़ाद घुमते हैं?

तो क्या भगवान हैं? हाँ, वास्तव में भगवान हैं! उतना ही नहीं बल्कि भगवान तो आपके अन्दर ही हैं। परम पूज्य दादाश्री कहते हैं “गोड इज इन एवरी लिविंग क्रिएचर, वेधर विज़ीबल और इनविज़ीबल।”

बहुत लोग परम पूज्य दादाश्री के पास ऐसे प्रश्न लेकर आते थे और न केवल संतोषजनक समाधान पाया बल्कि भीतरवाले भगवान का भी अनुभव उन्होंने किया। हम आशा करते हैं आप भी ऐसा ही अनुभव प्राप्त करेंगे जब आप भगवान को खोजने एवं अनुभव करने हेतु आगे पढ़ेंगे…