Religious

मंगलसूत्र सिर्फ सुहाग की निशानी ही नहीं बल्कि, सेहत के लिए भी है फायदेमंद !

हिंदुस्तान में कई प्रकार की रीती-रिवाज और परंपराए निभाई जाती है. हिन्दू धर्म में शादी का बेहद महत्व माना जाता है. भारतीय संस्कृति में शादीशुदा महिलाओं को बहुत सम्मान और आदर दिया जाता है. भारत के हर कोने-कोने में अलग-अलग परंपरा के हिसाब से शादी की जाती है. यह बात तो आपको भी पता है कि भारत में कई धर्म के लोग रहते है और ये सभी धर्म के लोग मिल जुलकर रहते है. सभी धर्म के लोगों के अलग-अलग देवी-देवता होते है.

 

धर्म के मुताबिक होती है शादी

भारत में शादी की रस्मे धर्म के मुताबिक की जाती है हर धर्म की एक अपनी रीती-रिवाज और परंपरा होती है जिसमे मुताबिक शादियाँ होती है. हिन्दू धर्म में शादी अलग तरीके से और मुस्लिम धर्म में अलग तरीके से होती है शादी. सिर्फ यह नहीं बल्कि अलग-अलग राज्यों के हिसाब से भी शादी होती है जिसमे अलग-अलग परंपरा होती है. हिन्दू धर्म में महिला को मांग में सिंदूर भरना और मंगलसूत्र पहनना अनिवार्य होता है लेकिन मुस्लिम धर्म में इस तरह की कोई परंपरा नहीं होती है.

 

मंगलसूत्र पहनने के फायदे

यह बात तो आपको भी मालूम होगी कि हिन्दू धर्म में वे ही महिलाओं को शादीशुदा माना जाता है जिसकी मांग में सिंदूर और गले में मंगलसूत्र पहना हो. लेकिन क्या आपने यह सोचा है कि भंला मंगलसूत्र पहनने से क्या फायदा होता होगा ? तो आज हम इस सवाल का जबाव बताने जा रहे है तो देर किस बात की आइये जानते है क्या है फायदा.

 

 

  • शादीशुदा महिला हमेशा मंगलसूत्र पहनती है तो महिला के अन्दर सकरात्मक उर्जा का संचार होता है. जिसके कारण महिलाओं के अन्दर सकारात्मक विचार पैदा होते है.
  • आपको भी देखा है कि मंगलसूत्र काले मोतियों और सोने से मिलकर बनाया जाता है. वैज्ञानिको के मुताबिक काले मोती और सोना महिलाओं की सेहत के लिए फायदेमंद होते है.
  • महिलाएं जो अपने गले में मंगलसूत्र धारण करके रखती है उनके मोतियों से जो हवा गुजरकर सकरात्मक उर्जा का संचार होता है. इससे महिलाओं को कई प्रकार के रोगों से लड़ने की क्षमता में वृद्धि होती है.
  • आयुर्वेद के मुताबिक महिलाओं को सोना धारण करना स्वास्थ के लिए काफी फायदेमंद होता है.
  • शादीशुदा महिला हमेशा मंगलसूत्र धारण करके रखती है तो दोनों पति-पत्नियों के बीच रिश्तें में मधुरता और मजबूती आती है.