Entertainment

फिल्म पद्मावत में हुई ये Mistakes, क्या आपने दिया ध्यान

भारी विरोध के बीच आख़िरकार डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ रिलीज हो गई है. करणी सेना सहित कई संगठनों द्वारा फिल्म को कड़े विरोध और आलोचनाओं सामना करना पड़ा है. हालाँकि जिसने भी यह फिल्म देखी है, वह फिल्म की तारीफ कर रहा है. संजय लीला भंसाली की फिल्मों में भव्यता और क्रिएटिविटी देखने को मिलती है, जो इस फिल्म में भी देखने को मिल रही है. हालाँकि इस सब के बावजूद इस फिल्म में कुछ गलतियाँ भी हुई है, जो गौर से देखने पर नजर आती हैं. आइये आज हम आपको फिल्म ‘पद्मावत’ में हुई गलतियां बताते है.

फिल्म का एक सीन बेहद ही फनी और नकली लगता है, वह है झंडा उठाने वाला सीन. फिल्म में एक सीन है, जिसमे एक हल्के से मामूली से झंडे को उठाने के लिए दस से बीस लोग लगा दिए गए है. जबकि इस झंडे को एक व्यक्ति भी उठा सकता था.

दूसरी बड़ी गलती युद्ध के सीन के समय हुई है. दरअसल इस सीन में जब दो सेनाएं आपस में टकराती है तो उनके युद्ध शुरू होने से पहले ही घोड़ो की आवाज के साथ तलवारे टकराने की आवाज आती है.

फिल्म के एक सीन में अलाउद्दीन खिलजी शाही पालकी पर बैठकर उनके हाथ में कमल का फूल लेकर उसे सूंघते हुए नजर आ रहे है. जबकि गौर से देखने पर पता चलता है कि फूल नकली है.

फिल्म में खिलजी मल्ल युद्ध करते हुए भी नजर आ रहे है. इस दौरान आपको ऐसे तो सिर्फ दो लाइन में खड़े हुए लोग दिखाई देते है, लेकिन ऊपर से मल्ल युद्ध दिखाया जाता है तो उसमे बहुत बड़ी भीड बताई जाती है.