Reader's Choice

विजय तिलक के साथ बीजेपी की बहार, लगातार 22 साल बाद फिर से मोदी सरकार

Reader’s Choice :-

जैसा की गुजरात चुनाव के परिणाम घोषित हो रहे हैं और परिणाम अब पूरी तरह से साफ़ हैं कि गुजरात में बीजेपी सरकार बन चुकी हैं. और 22 राज करने के बाद एक बार फिर बीजेपी की सरकार बनी.  हालाँकि अब इस बात को नकारना गलत नहीं होगा कि कांग्रेस पार्टी ने राहुल गाँधी के दम पर अच्छा मुकाबला दिया. लेकिन आखिरकार जीत ही सबकुछ होती हैं, और बीजेपी ने इस बात को पूरी तरह से साफ़ कर दिया की PM मोदी का जादू अभी भी बरकरार हैं. इस चुनाव में बीजेपी के जितने के कई कारण हैं लेकिन अगर कहे कि मोदी का जादू फिर एक बार गुजरात की जनता पर पड़ा तो यह कोई बैमानी नहीं होगी. लेकिन अगर बात करे कुछ जरुरी कारणों की जो बीजेपी के जीत में अहम भूमिका निभाते दिखे तो वे कुछ ऐसे होंगे.

 

बीजेपी की जीत के मुख्य कारण

जैसे कि इस चुनाव में साफ़ हो गया कि गुजरात ही नहीं पुरे देश में  नरेन्द्र मोदी का जादू अभी भी बरकारार हैं और यह आगामी चुनावो में भी बरक़रार रहेगा, लेकिन बीजेपी की इस चुनाव में जीत के कुछ कारण अहम् हैं जो कि इस प्रकार हैं. इस चुनाव में जहाँ बीजेपी ने जातीवाद के मुद्दे को अच्छे से भुनाया, जो कि बीजेपी का मुख्य मुद्दा नहीं रहा हैं. इसके साथ ही मोदी का गुजरात चुनाव में उतरना लोगो को बीजेपी को वोट देने के लिए आकर्षित करता नजर आया. वहीं चुनाव में विकास भी कई हद तक बीजेपी की जीत का कारण बना, क्योकि यह जग जाहिर हैं कि पुरे ही देश में गुजरात मॉडल का उदहारण दिया जाता रहा हैं. ऐसे में विकास के मुद्दे को भी बीजेपी ने अच्छे से भुनाया. इसके साथ ही विपक्ष की बयानबाजी और विपक्ष की गलतियों ने बीजेपी के इस चुनाव में जितने में अहम् भूमिका निभाई.

 

कांग्रेस की हार के मुख्य कारण

जैसा की हमने इस चुनाव में आपको बताया की कांग्रेस के नवनिर्वाचित अध्यक्ष राहुल गाँधी ने अच्छी रणनीति के तहत भाजपा को घेरना का प्रयास किया. राहुल गाँधी ने कई रेलिया की, मंदिर गए वहीँ रोड शो से भी उन्होंने कांग्रेस का अच्छा खासा माहौल बना दिया. वहीं अल्पेश ठाकुर और हार्दिक पटेल जैसे युवाओं ने भी कांग्रेस को अच्छा साथ मिला. लेकिन आखिर कांग्रेस हारी कहा, अगर बात करे कांग्रेस की हार की तो यहाँ हार का सबसे बड़ा कारण कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर के द्वारा प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ दिया गया बयान बना. इस बयान ने गुजरात में कांग्रेस के खिलाफ काम किया और बीजेपी को एक नया मुद्दा दे दिया. इसके साथ ही हार्दिक पटेल के साथ पाटीदार समाज को साथ लेने के चक्कर में कांग्रेस ने अपने मजबूत वोटर्स माने जाने वाले आदिवासियों और पिछड़ा वर्ग के लोगो को लुभाने में थोड़ी कमजोरी दिखाई जिसका फायदा भी बीजेपी को मिला,

 

ये भी पढ़े 

भाजपा को हार के भंवर से बाहर निकाल लाए मोदी, बने बाजीगर

गुजरात चुनाव में खूब वायरल हुई यह 5 झूठी तस्वीरें

PM मोदी और राहुल गाँधी की छवि को बयां करती है साल 2014 में आई फिल्म यंगिस्तान