Reader's Choice

वाजपेयी से लेकर मोदी तक, अय्यर कई बार दे चुके है ‘नीच’ बयान

Readers Choice

गुजरात चुनाव के पहले चरण से ठीक दो दिन पहले प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी को ‘नीच’ कहने वाले मणिशंकर अय्यर विवादों में घिर गए है. उनके इस बयान से कांग्रेस को भी गुजरात चुनाव में नुकसान उठाना पड़ सकता है. हालाँकि मामले की गंभीरता को देखते हुए कांग्रेस ने मणिशंकर की प्राथमिक सदस्यता रद्द कर दी और खुद राहुल गाँधी ने अय्यर को प्रधानमन्त्री मोदी से मांगने को कहा. इसके बाद अय्यर भी मीडिया के सामने आए और अगर-मगर के साथ माफ़ी भी मांग ली, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी. उनके इस बयान से कांग्रेस परेशानी में घिर गई है. हालाँकि यह पहली बार नहीं है, जब अय्यर के बयान के कारण कांग्रेस को परेशानी का सामना करना पड़ा हो. वह इससे पहले भी कई बार ऐसे बयान दे चुके है, जिसकी वजह से कांग्रेस को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा है.

 

 

वाजपेयी को बताया ‘नालायक’

मणिशंकर अय्यर ने साल 1998 में तत्कालीन प्रधानमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अटल बिहारी वाजपेयी को ‘नालायक’ कहा था. उनके इस बयान से उस समय काफी बवाल मचा था और आखिर में मणिशंकर अय्यर को माफ़ी मांगनी पड़ी थी. उस समय भी अय्यर ने यहीं कहा था कि वह हिन्दी के शब्दों का आशय नहीं समझते हैं.

 

मोदी कहा चाय वाला

2014 लोकसभा चुनावों के दौरान मणिशंकर अय्यर ने ऐसा बयान दिया, जिसका खामियाजा उसे लोकसभा चुनाव में उठाना पड़ा. उस समय अय्यर ने मोदी को लेकर कहा था कि मोदी कभी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते और वह कांग्रेस सम्मेलन में चाय बेच सकते हैं. मणिशंकर के इस बयान से भाजपा के प्रधानमंत्री पद के तत्कालीन उम्मीदवार मोदी को काफी मदद मिली थी.

 

 

बादशाह का बेटा बादशाह

पिछले दिनों मणिशंकर अय्यर ने राहुल गाँधी की ताजपोशी को लेकर कहा था कि, “एक तो जब जहाँगीर के जगह शाहजहाँ आए, तब कोई इलेक्शन हुआ? जब शाहजहाँ के जगह औरंगजेब आए, तब कोई इलेक्शन हुआ? नहीं. पहले से पता था, कि जो भी बादशाह है, उनके औलाद जो है, वो ही बनेंगे, वो भी बनेंगे, आपस में लड़े तो अलग बात है. लेकिन, डेमोक्रेसी में चुनाव होता है.” अब अय्यर इसे बयान से क्या कहना चाहते थे यह तो वही जाने लेकिन प्रधानमन्त्री मोदी ने इस बयान को मुद्दा बनाते हुए कहा था कि, “कांग्रेस के वरिष्ठो नेता ये खुद मानते हैं कि कांग्रेस पार्टी, ये पार्टी नहीं है, कुनबा है, और किसी का सत्ता पर आने का मतलब है, कि बादशाह की औलाद का बैठना. ये औरंगजेब राज, उनको मुबारक.”

 

पाक से की मोदी सरकार गिराने की मांग

मणिशंकर अय्यर एक बार 26/11 हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को ‘हाफिज साहब’ कह चुके हैं. एक बार उन्होंने पाकिस्तान टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि जब तक मोदी सरकार है, भारत और पाकिस्तान के बीच शांति स्थापित नहीं हो सकती. उन्होंने पाकिस्तान से भाजपा सरकार को गिराने में मदद को कहा. अय्यर 2011 में अपनी पार्टी के ही नेता अजय माकन को भी निशाना बना चुके हैं.

 

पढ़िए और भी मजेदार खबरें

भारत की आजादी के पहले जश्न में शामिल नहीं हुए थे महात्मा गाँधी, जानिए क्या था कारण

नया घर, नई बाइक और नई वाइफ, कुछ इतनी बदल गई है दाना मांझी की जिंदगी

जब इस डॉन ने बीच सड़क सरेआम कर दी दाऊद की पिटाई