Reader's Choice

खर्राटे को कहें गुडबाय, इन 12 आसान उपायों से

readers choice

आज कई ऐसे लोग है जो खर्राटे की समस्या से परेशान है. यह ऐसी समस्या है जिससे हमारे आसपास रहने वाले लोग भी परेशान रहते है. दरअसल जब हम सोते है तो हमारे गले को पीछे का हिस्सा थोड़ा संकरा हो जाता है और जब उस संकरे हिस्से में से ऑक्सीजन निकलती है तो, आस-पास के टिशु वायब्रेट होते हैं. वायब्रेशन से होने वाली आवाज को ही खर्राटे कहते हैं. जो व्यक्ति खर्राटे लेता है, उस व्यक्ति के पास सोना मुश्किल होता है. वैसे ज्यादातर लोग खर्राटे को एक सामान्य प्रकिया समझकर टालते हैं. अगर आप भी खर्राटे लेने की समस्या से जूझ रहे है तो बता दे कि इसे हलके में न ले, यह आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है. इसलिए इससे बचने के उपाय करना चाहिए. वैसे खर्राटे लेने के कई कारण हो सकते हैं जैसे, एलर्जी, नाक की सूजन, जीभ मोटी होना, अधिक धूम्रपान करना, शराब या नशीले पदार्थों का सेवन करना और रात को अधिक भोजन करना आदि. आइये हम आपको बताते है खर्राटे से मुक्ति पाने के कुछ उपाय.

 

करवट से सोएं और नींद की गोलियां न ले

नींद की गोलियां हमारी मांसपेशियों पर विपरीत असर डालती है और इससे खर्राटे भी बढ़ते है. इसलिए जरुरी है कि सोने के लिए शराब, नींद की गोलियों या अन्य दवाईयों का इस्तेलमाल न करे. इसके अलावा अपने सोने का तरीका भी बदले. जैसे पीठ के बल सोना सबसे अच्छा माना जाता है, लेकिन आप खर्राटे की समस्या से परेशान है तो करवट से सोएं. इससे खर्राटे की आशंका कम होती है. गलत समय पर सोने से भी खर्राटे की आशंका बढ़ जाती है, इसलिए कोशिश करें कि रोजाना एक ही समय पर सोए. सोते समय सिर को थोड़ा ऊंचा करके सोए, ऐसा करने से भी खर्राटे की समस्या से बचा जा सकता है.

 

शांत रहे और खूब पानी पिएं

खर्राटे से परेशान व्यक्ति को रात को सोते समय अपने मन को शांत रखना चाहिए, इससे आपको जरुर फायदा मिलेगा. इसके अलावा खूब पानी पिएं, क्यों कि पानी की कमी से भी खर्राटे की प्रवृत्ति बढ़ जाती है. इसलिए खर्राटों से दूर रहने के लिए दिनभर भरपूर पानी पीएं.

 

वजन कम करें और धूम्रपान से बचे

मोटे लोग ज्यादातर इस बीमारी का शिकार होते है. इसलिए जरुरी है कि इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए अपना वजन कम करे. इसके अलावा धूम्रपान से भी खर्राटों की संभावना बढ़ जाती है क्यों कि धुम्रपान से वायुमार्ग की झिल्ली में परेशानी पैदा होती है और नाक और गले में हवा पास होना रूक जाती है.

 

एक्सरसाइज करें और नमक कम खाएं

नमक हमारे शरीर में ऐसे तरल पदार्थ का निर्माण करता है, जिससे नाक के छिद्र में बाधा उत्पकन्नप होती है. इसलिए नमक ज्यादा मात्रा में न खाए. इसके अलावा खर्राटे को कम करने के लिए गले की मांसपेशियों की एक्स रसाइज करें.

 

पढ़िए और भी मजेदार खबरें

रोजाना फॉलो करे यह आयुर्वेद के नियम, नहीं होंगे बीमार

रोने से क्या डरना, रोना होता है स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद

एड्स का इतिहास- जानिए कब, कहां और कैसे अस्तित्व में आई यह बीमारी