Reader's Choice

2017 में नेताओं ने दिए ऐसे बेतुके बयान, जिन्हें पढ़कर अपना सर पीट लेंगे आप

हमारे देश के नेता अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चाओं में रहते है. हाल ही में हुए गुजरात चुनाव में भी नेताओं ने भाषाओँ की मर्यादाओं का खूब उल्लंघन किया. कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘नीच’ तक कह दिया. अगर साल 2017 की बात करें तो पूरे साल में ऐसे कई मौकें आए जब हमारे देश के नेताओं ने बेतुके बयान दिए. बयान भी ऐसे कि जिनका सिर-पैर उन्हें खुद भी नहीं पता होगा. हम आपके लिए इस साल दिए गए सबसे बेतुके बयानों की लिस्ट लाये हैं, जिसे देख कर कोई भी समझदार व्यक्ति अपना सिर पीट लेगा.

आजम खान, समाजवादी पार्टी नेता

“मुस्लिम ज्यादा बच्चे पैदा करते हैं क्योंकि वह बेरोजगार हैं और उनके पास करने को कुछ काम नहीं है।”

रविशंकर, आध्यात्मिक गुरु

“समलैंगिक होना एक प्रवृत्ति है जो हमेशा के लिए नहीं बनी रहती. मैं बहुत से ऐसे लोगों को जानता हूं जो पहले Gay थे, लेकिन अब नॉर्मल हैं. बहुत से ऐसे लोगों को भी जानता हूं जो पहले नॉर्मल थे, लेकिन अब समलैंगिक हो गए हैं.”

संगीत सोम, भाजपा नेता

“ताजमहल को देशद्रोहियों ने बनवाया है, इसलिए उसे देश के इतिहास में शामिल नहीं किया जा सकता.”

शरद यादव, जनता दल के पूर्व नेता

“बेटी की इज्जत से भी वोट की इज्जत बड़ी होती है, बेटी की इज्जत जाएगी तो गाँव व मोहल्ले की इज्जत जाएगी. वोट एक बार बिक गया तो देश की इज्जत और आने वाला सपना पूरा नहीं हो सकता है.”

विनय कटियार, भाजपा सांसद

“भारतीय जनता पार्टी में कांग्रेस की प्रियंका गाँधी वाड्रा से कहीं अधिक सुंदर स्टार प्रचारक मौजूद है.”

राहुल गाँधी, कांग्रेस अध्यक्ष

“भगवान शिव से लेकर गुरु नानक और बुद्ध से लेकर महावीर तक हर किसी की तस्वीर में कांग्रेस का हाथ दिखाई देता है.”

पियूष गोयल, रेल मंत्री

“कंपनियां रोजगार घटा रही है, जो कि अच्छा संकेत है. देश आज ज्यादा से ज्यादा युवाओं को एंटरप्रेनयोर बनने की इच्छा रखते देख रहा है.”

परेश रावल, भाजपा नेता
“पत्थरबाज को आर्मी की जीप से बांधने के बजाय, अरुंधती राय को बांधना चाहिए.”

तरुण विजय, बीजेपी नेता

“भारतीयों को नस्ली कहना गलत होगा, क्योंकि अगर ऐसा होता तो हम दक्षिण भारतीय लोगों के साथ कैसे रह पाते.”

किरण खेर, बीजेपी सांसद
जब लड़की को पता था कि ऑटो में पहले से तीन आदमी बैठे हुए है, तो उसे ऑटो में नहीं बैठना चाहिए था. (चंडीगढ़ रेप केस पर)