Religious

इस चमत्कारी मंदिर में पानी से जलते है दीपक, इस अनोखें मंदिर के बारे में जरुर जानें !

Religious

धरती पर रह रहे इंसान की यह फितरत यह होती है कि या तो वह भगवान पर पूरी तरह से विश्वास करता है या अंधविश्वास मानता है, लेकिन अक्सर देखा है कि किसी जगह पर कोई चमत्कार हो जाता है तो उसे बेहद तबज्जो देने लगते है लोग. इस चमत्कार के कारण उस पर विश्वास करने लगते है लोग. इस वजह से व्यक्ति अपना तर्क नहीं लगा पाता है. आज हम एक ऐसे ही चमत्कार के बारे में बताने वाले है जिसे जानकर आप हैरान हो जायेंगे. दरअसल, आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे है जहां पर पानी के दीपक जलते है. जी हाँ….यह बिलकुल सही बात है. शायद आपको इस बात पर यकीन नहीं हो रहा होगा लेकिन यह बात सही है तो देर किस बात आइये जानते है कहाँ पर यह मंदिर.

 

शाजापुर जिले में यह मंदिर

यह अनोखा मंदिर मध्यप्रदेश के शाजापुर जिले में कालीसिंध नदी के किनारे नलखेड़ गाँव से लगभग 15 किलोमीटर दूर गड़िया गाँव के पास एक मंदिर स्थित है. यह मंदिर में पानी से दीपक जलने की वजह से यह बेहद प्रसिद्ध माना जाता है. यह चमत्कारी मंदिर गड़ियाघाट वाली माता जी नाम से जाना जाता है. इस मंदिर दर्शन करने के लिए लोग दूर-दूर से आते है.

 

इस मंदिर में पानी से दीपक जलाया जाता है

यह जानकर आप बेहद हैरानी हो रही हो रही भला पानी से दीपक कैसे जल सकता है लेकिन यह बात बिलकुल सही है. इस मंदिर में दीपक को जलाने के लिए घी या तेल का सहारा नहीं लेना पड़ेगी बल्कि साधारण सा पानी से दीपक प्रज्वल्लित हो उठता है. इस बात पर शायद आपको विश्वास नहीं हो रहा होगा लेकिन यह बात सौ प्रतिशत सही है.

 

पुजारी के सपने आई थी देवी

इस मंदिर के पुजारी सिद्धुसिंह जी महाराज का कहना है कि इस मंदिर में पहले घी का ही दीपक जलता था लेकिन करीब 5 वर्ष पूर्व पुजारी के सपने में आई थी तब माता ने पुजारी से कहा की तुम अब दीपक पानी से जलाओ. पुजारी ने माता की इस बात को मानते हुए दुसरे दिन पानी का दीपक जलाया तो दीपक प्रज्वल्लित हो उठा. तब से अभी तक इस मंदिर में पानी के दीपक ही जलते है.

 

Source : Youngisthan

 

और भी पढ़िए स्टोरी….

इस उंगली से भूलकर भी नहीं लगाए तिलक, यह उंगली के प्रयोग से होती है असमय मृत्यु

मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को मंदिर में जाना क्यों निषेध है, जानिए इसका कारण

हनुमान जी की कृपा प्राप्त करनी हो तो, मंगलवार को भूलकर भी न करे ये काम