Religious

जीवन में सफलता के लिए अपनाए भगवान कृष्ण की यह 8 सीख

Religious

भगवान कृष्ण की लीलाओं के बारे में हम सब अच्छी तरह जानते है. अक्सर हम श्री कृष्ण की लीलाओं के बारे में सुनते है या फिर फिल्म और टीवी के माध्यम से देखते है. हालाँकि हम में से ज्यादातर लोग उन लीलाओं को देखकर खुश होते है, लेकिन उनसे सिख नहीं लेते है. अगर श्री कृष्ण के जीवन से जुडी घटनाओं को देखें तो पता चलेगा कि भगवान कृष्ण ने हर परिस्थिति का सामना डटकर किया. उनका मैनेजमेंट बहुत प्रभावी रहा है. आप भी श्री कृष्ण की लीलाओं और मैनेजमेंट से सिख लेकर जीवन में सफलता का स्वाद चख सकते हैं. आइये जानते है कि श्री कृष्ण के जीवन से हमें क्या सिख मिलती है.

 

 

हर भूमिका में रहें तैयार

भगवान श्रीकृष्ण की सबसे बड़ी खासियत यह थी कि वह हर परिस्थिति का सामना करने के तैयार रहते थे. उनके लिए न्याय ज्यादा महत्वपूर्ण था भूमिका नहीं. यहीं कारण था कि वह महाभारत में अर्जुन के सारथी बने थे.

 

भेद-भाव नहीं

भगवान श्रीकृष्ण से हमें सिख मिलती है कि हमें कभी भी ऊंच-नीच का भेद नहीं करना चाहिए. भगवान श्री कृष्ण ने भी कभी किसी से भेद-भाव नहीं किया. कृष्ण और सुदामा की दोस्ती इसका उदाहरण है. हमें हर व्यक्ति का सम्मान करना चाहिए.

 

योजना बनाकर करें काम

भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं से हमें सिखने को मिलता है कि हमें किसी भी कार्य को करने से पहले उसकी योजना जरुर बना लेनी चाहिए. महाभारत में श्रीकृष्ण ने कई बार यह साबित भी किया है कि योजना बनाकर काम करने से उसमे सफलता मिलती है.

 

व्यर्थ की चिंता

भगवान कृष्ण ने कहा है कि मनुष्य को व्यर्थ की चिंता नहीं करना चाहिए. जो हो गया उसे बदला नहीं जा सकता, इसलिए उसे भूलकर और गलतियों से सिख लेकर आए बढ़ो.

 

 

खुश रहना

भगवान कृष्ण के जीवन से हमें यह सिख भी मिलती है कि हमें हमेशा खुश रहना चाहिए. मनुष्य को हर स्थिति में खुश रहने का प्रयास करना चाहिए. मुस्कराहट के बल पर मनुष्य विकट परिस्थितियों का भी आसानी से सामना कर सकता है.

 

अनुशासन का महत्व

भगवान श्रीकृष्ण ने गीता में अनुशासन पर जोर दिया है. उन्होंने कहा था कि मनुष्य के जीवन में अनुशासन का बड़ा महत्व है. श्रीकृष्ण अर्जुन के सामने वे सदैव यह बात दोहराते थे.

 

खुद रखें नियंत्रण

भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है कि व्यक्ति का खुद पर नियंत्रण होना आवश्यक है, वरना मनुष्य विनाश के पथ पर अग्रसर हो जाता है. युद्ध में एक बाद श्रीकृष्ण ने भीष्म को मारने के लिए रथ का पहिया उठा लिया था मगर समय रहते ही उन्होंने उसे रोक भी लिया था.

 

खुद पर हो भरोसा

जब युद्ध के दौरान अर्जुन, पांडवों और कौरवों के बीच संघर्ष को देखकर घबरा गए तो भगवान कृष्ण ने कहा था कि खुद पर भरोसा रखों सब ठीक हो जाएगा. हर मनुष्य अपने आप में सक्षम होता है. जरूरत है कि वो बस खुद पर विश्वास रखते हुए आगे बढ़ें.

Source :- gyanchand.wittyfeed.com

 

पढ़िए और भी मजेदार ख़बरें

नजर आने लगे यह लक्षण तो समझ लो नजदीक है कलयुग का अंत

इस दिन जल चढ़ाने से आती है दरिद्रता, जानिए पीपल का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

दिन भर भगवान का नाम लेने से भी नही मिलेंगे भगवान, पढ़िए ये रोचक कथा