Religious

किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले भगवान गणेश को सर्व प्रथम क्यों पूजते है? जानिए

किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले सभी लोग श्री गणेश जी को क्यों शुमरते है यानिकी सबसे प्रथम गणेश जी की पूजा करते है. लेकिन क्या आपने कभी गौर किया कि दुसरे देवी देवताओं के पहले गणेश जी की पूजा अर्चना क्यों करते है.  इसके पीछे क्या राज है आज हम आपको बताने जा रहे है इस सवाल का जबाव.

 

पौराणिक कथा के अनुसार

पौराणिक कथा के मुताबिक सभी देवताओं के बीच यह विवाद हो गया था कि सर्वप्रथम किसकी पूजा होनी चाहिए और इस वजह से सभी देवता अपने आप को ऊपर बताने लगे थे. यह विवाद बेहद उलझ रहा था और इसका कोई हल नहीं निकल रहा था फिर सभी देवता भगवान शिव के पास गए और उन्होंने इस विवाद को सुलझाने के लिए एक प्रतियोगिता का आयोजन किया था.

 

ब्रह्मांड का चक्कर लगाना

भगवान भोलेनाथ ने सभी देवी देवताओं के सामने यह शर्त रखी थी कि जो भी देवता सबसे पहले ब्रह्मांड का चक्कर लगाकर मेरे पास आएगा उस देवता की पूजा सबसे पहले की जाएगी. इस आयोजन के मुताबिक सभी अपने अपने वाहन पर बैठकर ब्रह्मांड के चक्कर लगाने के लिए निकल पड़े लेकिन भगवान गणेश कही और नहीं बल्कि अपने माता-पिता (शिव-पार्वती) के चक्कर लगाकर और मस्तक झुकाकर खड़े हो गये.

 

भगवान शिव ने निकाला हल

जब सभी देवता ब्रह्मांड का चक्कर लगाकर भगवान शिव के पास वापस आये तो उनके सामने भगवान शिव ने भगवान गणेश को विजेता घोषित कर दिया. यह सुनकर सभी देवतागण आश्चर्य में पड़ गए और भगवान शिव से सवाल करने लगे की यह आपका कैसा निर्णय है भगवन तो भगवान शिव ने कहा कि माता पिता को पुरे ब्रह्मांड में सबसे ऊंचा दर्जा दिया गया है और गणेश जी ने अपने पिता के चक्कर लगाये. भगवान शिव के निर्णय को सभी देवता मान गए. तभी से किसी कार्य को करने से पहले सर्वप्रथम भगवान श्री गणेश की पूजा करते है.