Reader's Choice

जोड़ों में सूजन और जलन से हो सकता है यह जटिल रोग, जानिए उपचार

रूमेटाइड आर्थराइटिस एक जटिल बीमारी है, जिसमें जोडों में सूजन और जलन की समस्या हो जाती है.यह सूजन और जलन इतनी ज़्यादा हो सकती है कि इससे हाथों और शरीर के अन्य अंगों की कार्यक्षमता और बाह्य आकृति भी प्रभावित हो जए.रूमेटाइड आर्थराइटिस पैरों को भी प्रभावित कर सकता है और यह पंजों के जोड़ों को विकृत कर सकता है. वास्तव में रूमेटाइड आर्थराइटिस से पीड़ित 90 प्रतिशत लोगों के पैरों और टखनों में रोग के लक्षण सबसे पहले दिखाई देने लगते हैं.

सामान्य लक्षण

रूमेटाइड आर्थराइटिस से ज़्यादातर हाथ, कलाई, पैर, टखने, घुटने, कंधे और कोहनियों के जोड़ प्रभावित होते हैं. इस रोग में शरीर के दोनों तरफ एक जैसे हिस्से में सूजन जलन हो सकती है. रूमेटाइड आर्थराइटिस के लक्षण समय के साथ अचानक या धीरे-धीरे नजर सकते हैं. पैरों और हाथों में विकृति आना रूमेटाइड आर्थराइटिस का सबसे सामान्य लक्षण है.

करीब 20 प्रतिशत मरीज़ों में इसके सबसे पहले लक्षण पैरों और टखने में नजर आते हैं. हालांकि हर व्यक्ति में लक्षण कुछ अलग हो सकते हैं जैसे, दर्द अकड़न, विशेषकर सुबह के समय जोड़ों में सूजन, गतिशीलता कम होना यानी ऐसा दर्द जो जोडों के गति करने के साथ बढ़ जाता हो, छोटे जोड़ों पर उभार या गांठ जैसा दिखाई देना.

उपचार

शुरूआती अवस्था में दवाइयां, खपच्ची बांधना, फिज़ियोथैरेपी, सही जूता पहनना जैसे उपचार किए जाते है. लेकिन गंभीर अवस्था में शल्य क्रिया की ज़रूरत पड़ सकती है. इंजेक्शन से भी अस्थाई आराम मिल सकता है. जहा पर दर्द हो उस स्थान पर ठंडा सेंक करें. विटामिन डी हड्डियों की मजबूती के लिए बहुत जरूरी हैं, इसलिए सूर्य की रोशनी में कुछ वक़्त बिताएं.