जब विनोद खन्ना ने अमिताभ से ज्यादा कर ली थी अपनी फ़ीस

बॉलीवुड के दिग्ग्ज अभिनेता रहे स्वर्गीय विनोद खन्ना अब हमारे बिच नहीं हैं, लेकिन फिल्मो में अपनी दमदार आवाज और शानदार अभिनय के लिए विनोद हमेशा याद किये जाते रहेंगे. विनोद खन्ना ने बतौर एक खलनायक के तौर पर अपने अभिनय करियर की शुरुआत फिल्म मन का मीत से की थी. अपने करियार के शुरूआती दिनों में विनोद ने बतौर खलनायक कई सारी फिल्मो में काम किया हैं, इन फिल्मो में विनोद खन्ना के अभिनय को एक अलग ही पहचान मिली, कुछ एक फिल्मो में तो उनका अभिनय फिल्म के मुख्य कलाकारों पर भारी दिखा. यही वो कारण था जिसकी वजह से विनोद एक सफल अभिनेता बने. आइये जानते हैं विनोद की जिंदगी से जुडा एक मजेदार किस्सा.

 

बतौर विलन की अभिनय की शुरुआत

आपको बता दे कि विनोद खन्ना ने अपने अभिनय करियर की शुरुआत फिल्म मन का मित से की थी. इस फिल्म से जहाँ विनोद खलनायक के तौर पर अपना डेब्यू कर रहे थे वहीं सुनील दत्त के भाई अपना बतौर एक्टर के तौर पर डेब्यू कर रहे थे. फिल्म से विनोद खन्ना ने एक खलनायक के तौर पर खूब लोकप्रियता बटौरी. इस फिल्म के बाद तो जैसे विनोद के पास फिल्मो की लाइन सी लग गई. विनोद ने भी अपने करियर में एक के बाद एक खलनायक की भूमिका निभाई. लेकिन बतौर अभिनेता फिल्म मेरे अपने से वे दर्ह्सको के बिच आये, यह फिल्म भी सफल रही और विनोद के अभिनय को खूब सरहाना मिली. इसके बाद तो विनोद खन्ना मुख्य धारा के अभिनेता बन गए.

 

अमिताभ से ज्यादा ली फीस

एक समय विनोद का स्टारडम इतना ज्यादा था कि वो अमिताभ बच्चन को सीधे सीधे टक्कर दे रहे थे. इतना ही नहीं विनोद का स्टारडम अमिताभ पर भारी भी था. इसके चलते विनोद ने अपनी फ़ीस सभी अभिनेताओ से काफी ज्यादा बड़ा दी थी, एसे में उन्होंने अमिताभ के साथ में की गई फिल्म अमर अकबर एंथोनी में अमिताभ से ज्यादा फीस ली थी. इतना ही नहीं उन्होंने अपनी फ़ीस उस समय अमिताभ और जीतेन्द्र जैसे स्टार्स से भी ज्यादा कर ली थी, बावजूद इसके फिल्ममेकर विनोद खन्ना के साथ में काम करना चाहते थे. लेकिन विनोद खन्ना ने एकदम से फिल्म इंडस्ट्री छोड़ दी और ओशो की शरण में चले गए. लगभग पांच साल बाद फिर विनोद ने फिल्म इंडस्ट्री की तरफ रुख किया और एक बार फिर सफलता हांसिल की.