Entertainment

भगवान बाहुबली की भव्यता का बखान करती है फिल्म ‘वीर गोम्टेश’, देखिए फिल्म का फर्स्ट लुक

बॉलीवुड के गलियारों में हर रोज नई फिल्में देखने को मिलती हैं. जहाँ हमें कुछ फिल्में हंसाती है तो कुछ ऐसी फिल्में भी होती है जिनसे हमें कुछ ना कुछ सीखने को मिलता है. आज हम आपके सामने एक ऐसी ही फिल्म लेकर आए हैं जोकि हमे कुछ नया सिखाती है. यह फिल्म जैन धर्म पर आधारित है, जिसमें एक प्रसिद्ध जैन तीर्थ स्थल के बारे में बताया गया है. साथ ही यह भी बताया गया है कि कैसे वहां पर एक विशालकाय मूर्ति की स्थापना हुई. तो चलिए विस्तार से जानते हैं क्या है इस फिल्म की कहानी:

बात करें श्रवण बेलगोला की तो बताते चलें कि श्रवण बेलगोला बेंगलुरु में स्थित भारत का एक सुप्रसिद्ध जैन तीर्थ स्थल है. इस स्थल पर भगवान बाहुबली की एक विशालकाय मूर्ति केवल एक ही पत्थर से उकेरी गई है. और जिसके बारे में यह कहा जाता है कि यहाँ काम करने वाले मजदूर 1 दिन में जितने पत्थर तोड़ते थे उसके वजन के बराबर वहां के राजा चामुंडाराय द्वारा सोना दिया जाता था.

फिल्म को हमारे सामने बड़े पर्दे पर कसरावद निवासी श्री शैलेंद्र जैन के सुपुत्र शशांक जैन उतार रहे हैं, इन्होने इसे लिखा भी है और इसका निर्देशन भी किया है. शशांक के द्वारा लिखी गई भारत की पहली बॉलीवुड फिल्म “वीर गोम्टेश” है, इस फिल्म में बाहुबली भगवान के आदर्शों और चरित्र का बखान किया गया है.

फिल्म को जल्द ही हमारे आसपास के सिनेमाघरों में रिलीज किया जाने वाला है. बात करने की फिल्म के कलाकारों की तो आपको बता दें कि इस फिल्म में इंदौर शहर से लेकर उसके आसपास कितने स्थानीय कलाकारों ने भूमिका निभाई है. फिल्म की शूटिंग इंदौर में हुई है, इसके अलावा भी जैसे सिद्धवरकूट, मुंबई, बेंगलुरु, श्रवणबेल गोला आदि स्थानों पर भी इसकी शूटिंग को अंजाम दिया गया है.

कवर पिक्चर्स बैनर के तले एवं वर्माक फ्रेम्स साथ मे रंगशाला प्रोडक्शन हाउस में बनी इस फ़िल्म का निर्देशन किया है शशांक जैन ने और निर्माता है शैलेन्द्र जैन (कवर पिक्चर्स) एवम सहयोगी निर्माता सौरभ जैन भारिल्ल और साधना मादावत जैन. फिल्म का मोशन पोस्टर भी सामने आ चुका है जिसे देखकर फिल्म की भव्यता का अंदाज लगाया जा सकता है. अब देखना यह होगा कि यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर क्या कमाल दिखा पाती है.